आदर्श क्रेडिट के सदस्यों के लिए खुशखबरी

आदर्श क्रेडिट के सदस्यों के लिए ये एक बड़ी खुशखबरी है। आदर्श मनी मोबाईल एप्लिकेशन के माध्यम से किसी भी व्यक्ति अथवा संस्था को धनराशि का भुगतान भेजना अथवा प्राप्त करना अब और भी आसान होने जा रहा है , भले ही संदर्भित व्यक्ति के पास किसी दूसरी कंपनी का ई वॉलेट या मोबाईल मनी एप्लिकेशन क्यों न हो। भारतीय रिजर्व बैंक इस दिशा में एक बड़ा कदम उठाने जा रहा है। जल्द ही भारतीय रिजर्व बैंक – मनी मोबाईल एप्स तथा डिजिटल वॉलेट ऑपरेटर्स को एक साझा तकनीकी मंच उपलब्ध कराने वाला है जहाँ से वे बिना किसी बाधा एक दूसरे को धनराशि अंतरण कर सकेंगे।

भारतीय रिजर्व बैंक इस बारे में आवश्यक दिशा निर्देश जारी करने की तैयारी में है। इसके बाद एक एप्प / वॉलेट से दूसरे वॉलेट में धन हस्तांतरण / भुगतान करना बिलकुल आसान हो जाएगा। ऑक्सीजन वॉलेट हमारे साथ पूर्व से ही अनुबंधित है और अब आदर्श मनी की उपयोगिता और भी बढ़ जाएगी , क्यों कि इसके माध्यम से किसी भी अन्य डिजिटल वॉलेट अथवा व्यापारी को सीधा भुगतान संभव हो सकेगा। निश्चित रूप से यह आरबीआई द्वारा उठाया गया एक साहसिक और प्रोत्साहनकारी कदम है जो लोगों के बीच डिजिटल लेन-देन को प्रोत्साहित करेगा। आदर्श मनी पहले से ही अपनी कार्यप्रणाली में आधुनिक तकनीक का इस्तेमाल कर रही है , जिसकी मदद से अधिक से अधिक लोगों को डिजिटल तथा कैशलेस अर्थव्यवस्था से जोड़ा जा सकता है। यह प्रयास भारत में डिजिटलीकरण को बढ़ावा देने में मदद कर रहा है और वास्तव में डिजिटल भारत बनाने की ओर यह एक बड़ा कदम है।

पारंपरिक रूप से ग्रामीण क्षेत्रों में बैंकों की उपलब्धता बहुत कम है। आदर्श क्रेडिट को-ऑपरेटिव सोसाइटी ने आदर्श मनी मोबाईल एप्प के माध्यम से ग्रामीण लोगों को वित्तीय सेवाओं के साथ जोड़ने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। आदर्श मनी ग्रामीण भारत में नकदी लेनदेन के डिजिटलीकरण को प्रोत्साहित कर रहा है। हम आदर्श मनी के माध्यम से ग्रामीणों को सीधे उनके घर तक वित्तीय सेवाएं उपलब्ध करा रहे हैं ताकि ग्रामीण इलाकों में बैंकों की दूरी की समस्या का निदान हो और सभी सुविधाएँ भी उपलब्ध हो सकें। आदर्श मनी ने वित्तीय समावेशन में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

आदर्श क्रेडिट के प्रबंध निदेशक राहुल मोदी कहते हैं ” आदर्श मनी ने ग्रामीण भारत में वित्तीय समावेशन को बढ़ावा देने का महती कार्य किया है। इसके अलावा डिजिटल और कैशलेस लेनदेन को प्रोत्साहित करने के लिए हमारे द्वारा योजनाबद्ध प्रयास किये गए हैं। जिसने व्यावसायिक लागत को कम करने तथा वित्तीय पारदर्शिता बढ़ाने में मदद की है। वे कहते हैं क़ि ‘आदर्श मनी ‘ सहकारी क्षेत्र में एक क्रांतिकारी कदम है। जिसके द्वारा धन हस्तांतरण, एनईएफटी / आरटीजीएस, भारत में किसी भी बैंक खाते में राशि अंतरण , मोबाइल रिचार्ज और डिजिटल लेनदेन जैसे कार्य आसानी से सम्पादित किये जा सकते हैं। आदर्श मनी अपने उपयोगकर्ता को उन सभी प्रकार के लेनदेन को पूरा करने में सक्षम बनाता है जो इससे पूर्व सोसाइटी की शाखा में जा कर ही संभव हो पाते थे। मोदी ने बताया क़ि आदर्श क्रेडिट को-ऑपरेटिव सोसाइटी के 17 लाख सदस्य हैं जो इन आधुनिकतम सुविधाओं से जुड़े हुए हैं और अधिकांशतः ग्रामीण क्षेत्र से सम्बद्ध हैं । आदर्श क्रेडिट भारत में पहली और एकमात्र को-ऑपरेटिव सोसाइटी है जिसने इस तरह की आधुनिक तकनीक का उपयोग कर ग्रामीण भारत के आर्थिक अभ्युदय में अपना योगदान दिया है। “

आदर्श क्रेडिट को-ऑपरेटिव सोसाइटी के बारे में
आदर्श क्रेडिट को-ऑपरेटिव सोसाइटी भारत की अग्रणी क्रेडिट को-ऑपरेटिव सोसाइटी है जिसका मुख्यालय अहमदाबाद, गुजरात में स्थित है। सहकारिता क्षेत्र के अग्रणी नेतृत्वकर्ता श्री मुकेश जी मोदी ने 1999 में आदर्श क्रेडिट को-ऑपरेटिव सोसाइटी की स्थापना की। देश भर में 800 से अधिक शाखाओं के माध्यम से वित्तीय सेवाएं प्रदान कर रही इस संस्था के 240,000 एडवाइज़र ग्रामीण और शहरी क्षेत्र में यात्रा कर 17 लाख सदस्यों को वित्तीय सेवाएं प्रदान करते हैं। आदर्श क्रेडिट कोऑपरेटिव सोसाइटी भारत की एकमात्र क्रेडिट को-ऑपरेटिव सोसाइटी है जो अग्रिम और आधुनिक तकनीक का उपयोग करती है और अपने मनी मोबाईल एप्लिकेशन के माध्यम से वित्तीय सेवाएं प्रदान कर रही है। आदर्श क्रेडिट भारत की एकमात्र वित्तीय संस्था है जहाँ आधार कार्ड आवश्यक अहर्ता है। जिसके आधार पर खाताधारक की पहचान सुनिश्चित की जाती है और आधार कार्ड की बुनियाद पर ही व्यवसाय संभव है। आदर्श क्रेडिट कोऑपरेटिव सोसाइटी में प्रतिदिन का लगभग 95% व्यवसाय आदर्श मनी मोबाइल एप्लिकेशन के माध्यम से ही होता है , जो एक बड़ी उपलब्धि है।